Unprecedented weather changes in Gujarat: किसान की मुसीबत

गुजरात में कुछ दिनों से अजीब मौसम की तरफ एक नजर जा रही है, जहां अलगावत मौसम में होने वाले अनियामित बारिश का सामना कर रहा है। इसके असर में आये क्षेत्र वडोदरा, नर्मदा, छोटाउदेपुर मध्य गुजरात में, और सूरत, भरूच, और वलसाड दक्षिण गुजरात के इलाको में शामिल है। खास कर किसानों के लिए, ये मौसम का अंजाना मोड़ उनके लिए खतरा लेकर आया है।

अंजाने मौसम बदलने का राज़

मध्य गुजरात: वडोदरा, नर्मदा, और छोटाउदेपुर

गुजरात के दिल में, मध्य गुजरात में भी अंजाने मौसम ने वर्षा की है। वडोदरा, नर्मदा और छोटाउदेपुर ने एक अचानक बरसात का सामना किया है, जिसे किसान चौक गए हैं। मौसम में इतनी झटपट बदलाव ने किसान को परेशानी में डाल दिया है, उनको समझ नहीं आ रहा कि सर्दी में उनके फसल को कैसे बचाया जाए।

दक्षिण गुजरात: सूरत, भरूच, और वलसाड

सूरत, भरूच, और वलसाड के दक्षिणी इलाकों को भी इसने छू लिया है, जिसकी खेती करने वाले लोग और भी परेशान हैं। मौसम के विपरीत, ये अंजान बारिश ने कृषि दृष्टि को उलट दिया है। किसान अब अपने फसल को सुरक्षित करने के लिए दो बढ़ते हुए चुनौतियों के साथ मुकाबला कर रहे हैं – अंजाने मौसम की और चल रहे सर्दी की।

Read More :-  जनधन खाताधारकों के लाभों को खोलें: ₹10,000 अकाउंट होल्डर्स के लिए

किसान की दुखदाई मानसून की शुरूआत

अंजाने मौसम की बरसात ने मानसून की शुरुआत के साथ मिली है, जिसका किसान और भी परेशान है। मौसम की बेपरवाही ने उन्हें कुछ समझ नहीं आने वाले खतरों के खिलाफ चेतावनी दी है। जहां गेहूं की फसल को थोड़ा सुकून मिल रहा है, वही दूसरी फसल जैसे तुवर, कपास, और सूखी फसल अब नुक्सान का सामना कर रही है।

प्रभावित क्षेत्रो का विशेष दृष्टीकोण

पंचमहल: घोघम्बा तालुका

पंचमहल जिले के घोघंबा तालुका के पूर्वी इलाके में अनजाने मौसम की बारिश ने रात के बीच और सुबह को महसूस किया। मूलानी कपाड़ी, गजापुरा, कांटू और दाहोद जिले के वाव लावरिया, काकलपुर जैसे गांवों में किसानों ने अपनी फसल को बचाने के लिए दौड़ लगाई। गेहूं की फसल को थोड़ा सुकून मिला है, लेकिन तुवर, कपास और सूखा चारा नुक्सान का खतरा उठा रहे हैं।

दाहोद: लीमखेड़ा जलोद गरबाड़ा पंथक

दाहोद, जैसे कि लिमखेड़ा जलोद गरबाड़ा पंथक, ने सुबह से धीरे-धीरे शुरू हुई बारिश देखी। शहर में बिजली के साथ-साथ तेज बारिश होने से तापमान में गिरावट हुई। इसके कारण जिले के किसानों में चिंता फेल हो गई है।

आनंद: अंजाने बरसात और फसल नुक्सान के खौफ

आनंद ने रात के बीच अंजाने बरसात का सामना किया, जिसे किसान परेशान हैं। क्या अंजाने बरसात से सब्जी, आलू, तम्बाकू फ़सलों का नुक्सान होने का ख़ौफ़ है।

सूरत: ऑलपाड तालुका में बरसात का असर

सूरत जिले में अनजाने मौसम की बारिश देखी गई, खास कर ऑलपैड तालुका में। स्यादला, करेली, मुलाद जैसे इलाक़ों में बरसात हुई। जब बारिश होती है, सड़कों पर पानी भर जाता है। मौसम थोड़ा ठंडा हो गया है। साथ ही साथ, किसानों की चिंता भी बढ़ गई है।

Read More :-  Gujarat Rain App : प्रदेश में बारिश को लेकर मौसम विभाग की बड़ी भविष्यवाणी, जानें कहां होगी बारिश?

वडोदरा: डभोई में तेज़ बारिश

वडोदरा के दभोई में तेज़ बारिश हुई, जिसके मौसम में एकदम ठंडक आ गई है। बरसात के कारण किसान चिंतित हैं। इसे कपास, दीवेला, और इस पंथक के तुवर जैसे फसल में नुक्सान का खौफ है।

छोटाउदेपुर: फसल नुक्सान का खौफ

छोटाउदेपुर जिला ने सुबह से बदलने वाले मौसम का सामना किया। पविजेतपुर में धीरे-धीरे बारिश हो रही है। और अगर और ज्यादा बारिश होगी तो चारा और कृषि में नुक्सान का खतरा है। किसानों की चिंता बढ़ गई है तालुक में घाटित हो रहे हैं इस सर्दी में फसल का नुक्सान का खौफ है। तुवर, मक्का, और पंचक के कपास में नुक्सान होने का खौफ है।

निष्कर्ष

जब गुजरात अनजाने मौसम की बारिश का सामना कर रहा है, तो किसान अपने फसल के भविष्य के बारे में दुविधा में है। मौसम के इतने झटपटी बदलाव सर्दी के मौसम में एक अनोखी चुनौती बनते हैं। क्या अनिश्चितता में सैलाब लगाने के लिए तेज प्लानिंग और तुरंट कदम उठाने की जरूरत है। हम बदलते हुए स्थिति के नए अपडेट के लिए जुड़ते रहेंगे।

Sharing is Caring...

मेरा नाम Paresh Thakor हे। और में Gujarat से हु और मेरी ब्लोगिग 3 Years करता और मुजे बहोत अनुभव हे लिखने का तो बस हमारे कंटेंट देखते रहे और ये मेरा contact :- +919998610623 वॉट्सऐप मेसेज कर सकते स्पॉनशर केलिए

Leave a Comment

close button
JSSC Constable Recruitment 2023 CG Police Recruitment UP Police Recruitment 2024 Chhattisgarh Police Constable Recruitment 2023 MP पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती 2024 | MP Police Sub Inspector Recruitment 2024